Saturday, August 10, 2019

“Adventures at Girnar Mountain”. (Hindi)

“Adventures at Girnar Mountain”. (Hindi)

(Fantasy for Teens Series)

A magical story
For family entertainment
 

 


This appreciated   
Not only by kids but,
Parents and
Grandparents also.
 
 
 
ह एक जादुई कहानी है। जिसमें भारतीय संस्कृति और संस्कार झलक रहे हैं। ''हॅरी पॉटर" की कहानी को पसंद करनेवाले नये पीढी के बच्चे  इस कहानी को भी बेहद पसंद कर रहे हैं।
बच्चों के साथ साथ यह कहानी उनके माता पिता को भी पसंद आ रही है। इतना ही नहीं बच्चोंके नाना नानी और दादा दादी को भी पसंद आ    रही है।

यह किताब बच्चोंको पुन: एक बार किताबोंकी तरफ ले जाने में कामयाब हो रही है।
जहाँ हर बच्चा मोबाईल के गेम में खो गया है वहाँ यह किताब उन्हें पुनश्च 'रीडिंग' की तरफ खींच रही है।
माता पिता को इस कहानी को पढते पढते अपना बचपन याद आ रहा है।

नाना नानी दादा दादी को भी पुराने दिन याद आ रहे हैं जब वो 'गुल बकावली', 'तोता मैंना', 'हतिम ताई', 'चंद्रकांता' 'इसाप नीती' पढते थे।

यह कहानी उन सभी 'बच्चोंको' भा रही है जिनका बचपन 'चंदामामा' कोमिक्स के साथ गुजरा है।

यह इतनी जबरदस्त कहानी है जो जादू, परी, राजा
रानी और बच्चोंके शौर्य की कथा का मजा देती है।

कहने जाय तो यह 'बाल साहित्य' है। हाँ यह हमारे
अंदर के बच्चे को जगा देता है। जिससे हररोज के जीवन का मजा आने लगता है।

बचपन के दिन, वो मित्र, वो स्कूल, वो यादें सब कुछ इस किताब के कारण पुन: जीवित हो रहा है।

बहोत लम्बे अर्से के बाद इतनी सुंदर किताब आयी है। खुद पढे और दोस्तोंको भी पढने दे।

इस कहानी में सस्पेंस है, ड्रामा है, शौर्य है, बेटी का सशक्त किरदार है। इसमें हर मोड पर कुछ ना कुछ घटना होती रहती है जो इसे रोमांचक बना देता है।

'गिरनार' यह गुजरात के एक पर्बत का नाम है।
जैसे 'हिमालय', 'सह्याद्री' उसी प्रकार से 'गिरनार'। पर्बत हमेंशा मानवी समाज में गूढ पैदा कर देता है। 'गिरनार' के बारे में भी अनेक गूढ कथायें प्रचलीत है। बहोत सारी लोक कथायें भी इस पर्बत के साथ जुडी हुई है।

'गिरनारी बापू' मतलब गिरनार की रहस्यमई गुफाओंमें तप करने वाले तपस्वी। यह बहोत सिद्ध हस्त गुरू होते है। लेकिन कुछ साल पहले समाज में अनेक पाखण्डी अपने आप को 'गिरनारी बापू' कहते हुये गलत कामों में लिप्त हुये। जिसके कारण 'बापू'ओंके बारें में समाज में नकारात्मक वातावरण तैयार हुआ।

गिरनार में घटनेवाली यह कथा, शुरू होती है मुम्बई जैसे शहर में। यह कथा बेटी के शक्ति को दर्शाता है। यह एक नाईका प्रधान कहानी है। जिसमें विर रस ओत: प्रोत भरा हुआ है।

जगह जगह पर यह कहानी चौका देती है जिसके कारण एक रहस्यमई दुनिया का आभास होता रहता है। किताब एक स्पीड के साथ आपको बांधे रखने में सक्षम है।

हर इंसान इसे पढेगा और सबको यह कहानी पसंद आयेगी इसी प्रकार से इसकी रचना की गई है। आईये इस दिलचस्प कहानी के रोमांचक सफर में आपका स्वागत है।

No comments:

Post a Comment

1

Subscribe Us

Recent-post

Labels

Blog Archive

Facebook